Wednesday, 16 October 2013

गुलज़ार का अनरिलीज़्ड गाना : (हिंदी सिनेमा के दुर्लभ गाने- 10)

Unreleased Song of Gulzar 
----------------------------------------------------------------------------

'शाम से आँख में नमी-नमी सी है ,आज फिर आप की कमी-कमी  सी है'
गुलज़ार साहब की लिखी हुई इस ग़ज़ल को आप ने जगजीत सिंह जी की आवाज़ में सुना होगा, लेकिन हम आप को सुनवायेंगे इसी ग़ज़ल को मुकेश जी के स्वर में ! फिल्म - 'मिटटी का देव' बहुत ही अच्छी फिल्म बनी थी लेकिन रिलीज़ होने से पहले ही इस फिल्म के सभी नेगेटिव व गीत आदि आग की भेंट चढ़ गए ! 

सलिल चौधरी जी कि साईट पर दिए विवरण के अनुसार यह संजीव कुमार के बेहतरीन अभिनय वाली एक बेहतरीन फिल्म थी, सलिल चौधरी जी के भाई ने यह फिल्म बनाई थी ! इस फिल्म का एक गीत जिसे मुकेश जी ने गाया था, आप के लिए यहाँ प्रस्तुत है -

Song - Shaam se aankh mei nami-nami si hai
                Aaj phir  aap ki   kami-kami si hai  
Movie - Mitti Ka Dev (1968)
Singer - Mukesh
Music - Salil Chowdhury 
Lyrics - Gulzar
====================================================

ज्ञात हो कि जगजीत सिंह के अतिरिक्त यह ग़ज़ल अलबम 'दिल पडोसी है' के लिए 
आशा भोसले जी ने भी राहुल देव बर्मन के संगीत निर्देशन में गाई है ! 
जिसे आप यहाँ सुन सकते हैं -